Let My Country Wake up and Bloom

Just another weblog

54 Posts

168 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 2740 postid : 665043

नई सुबह का गीत

Posted On 12 Jun, 2014 Junction Forum, Others, कविता में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

भारतीय संगीत में एक बहु प्रचलित गायन की प्रथा है, जिसे तराना गायन कहतें हैं. तराना गायन हद्रय की तरंगों पर खेलती मन की उन भावनाओं की स्वरों में अभिव्यक्ति है जब कि मन प्रसन्नता से ओत प्रोत हो अपनी खुसी को कुछ ऐसे शब्दों में पिरो कर व्यक्त करने लगता है, जिन शब्दों का कोई अर्थ भले ही न हो पर ये बिना अर्थ के शब्द कुछ ऐसी तरंगों को जन्म देते हैं जिन्हें सुन कर सुनने वाले का भी मन खुसी और आनंद से नृत्य करने लगता है.
.
कुछ ऐसा ही हम में से बहुतों ने तब भी महसूस किया, जब प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने देश कि जनता से एक प्रचूर बहुमत ले ‘एक भारत और श्रेष्ट भारत’ के घोष के साथ, महात्मा गांधी के बाद शायद पहली बार पुरे देश के सभी धर्मों और वर्गों के लोगों को साथ ले सबके सपनों को एक नई ऊर्जा और नई आशा देने कि पहल और शुरूआत की.
.
देश कि स्वतंत्रता के बाद पहली बार देश के लोगों ने ये जाना कि भारत भी विश्व में एक समानता के साथ किसी भी दुसरे देश की तरह अपने गौरवपूर्ण अतीत को पुनः साकार कर विश्व को एक नई दिशा और ज्ञान की अपनी वही खोई रौशनी को दे सकता है, जिसे आज़ादी के पिछले साठ सालों में और गुलामी एक एक हज़ार सालों में हमने बिलकुल ही भुला दिया गया था.
.
मैंने प्रधानमंत्री के शब्दों को शपथ लेने के समय से ही दिल्ली में दिए उनके पहले भाषण के बाद ही ये महसूस किया था कि शायद देश को जिस एक मजबूत प्रधानमंत्री कि जरूरत है, कुछ वैसा ही एक नेता देश के सामने खड़ा है और ये बात अपनी एक ट्वीट से मैं निचे दिए शब्दों में ६ जुन २०१३ को भी लिखा था :-
.
“इन the next Gen Election India is going to see an unprecedented मोदी Wave backed mainly By youth & Narendra Modi would emerge as a strong PM . 9:23 AM – 6 Jun 2013
https://twitter.com/kapoor_/status/३४२६७८२१२५४४९६२५६०
.
उसके बाद १४ अप्रैल २०१४ की ट्वीट में हम सभी को बहुत कुछ लगने लगा था कि देश, इस बार इस अवसर को जाने नहीं देगा जो कि मेरी निचे दी गयी ट्वीट में पुनः एक नयी आशा के साथ स्पष्ट किया गया था और साथ में मैंने अपना जागरण जंक्शन में प्रकाशित अपनी कविता “Let My Country Wake up and Bloom” के साथ श्री नरेंद्र मोदीजी को समर्पित भी किया है.
.
“Indian Voters are going to give a chance to Modiji to give India a strong PM. My Poem ‘Let My Country Wake up & Bloom’ 4 him http://www.poetrysoup.com/poems_poets/poem_detail.aspx?ID=245319 …”
.
मुझे ये तो नहीं मालूम कि इस मंच के कितने मेरे मित्र लेखक और लेखिकाएं भारत के इस महान बदलाव को मेरी तरह महसूस करते हैं, पर मुझे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्धारा किये गए वादों पर पुरे से भी ज्यादा भरोसा है, क्योंकि ये पहले प्रधानमंत्री हैं जिन्हों ने अपने सपनों को केवल स्पप्नों की बुनियाद पर नहीं खड़ा करने की कोशिश की है वरन सचमुच हक़ीक़त में भी प्रधानमंत्रीजी ने भारत को “‘एक भारत और श्रेष्ट भारत’” बनाने का जो संकल्प लिया है वो समय भी लगता है कि आ चुका है.
.
ऐसी नयी आशा के समय में न जाने क्यों अपने ही एक तराना गायन के शब्द मुझे कुछ सपनों को सच होने के समय निकलने वाले शब्द प्रतीत हो रहे हैं. अगर आपको भी कुछ ऐसा महसूस हो या इसके विपरीत भी प्रतीत हो तो अपने विचार रखने का कष्ट करियेगा. मेरा ये गीत मैंने अपने You Tube के चैनल पर भी प्रकाशित किया है और मुझे आशा है संगीत के प्रेमी भी इस तराना गायन पर अपनी प्रतिक्रिया रखने का कष्ट करेंगे.
.
नई सुबह का गीत
.
You Tube पर URL
http://www.youtube.com/watch?v=8IrGvXAlC3w

.
ता ना धूम
धूम ता ना ना धूम
धूम ता ना ना धूम
.
धूम ता ना ना धूम
.
धूम धूम ता ना ना
धूम धूम ता ना ना
.
धूम मची है, सगरे जग में
ढूंढ रहा जिसे, धुन ये वही है
.
ता ना ना धूम
धूम ता ना ना धूम धूम
.
ता ना ना धूम
धूम ता ना ना धूम
.
देखो तो ये है, कैसा करिश्मा
धुन तेरी, तेरे सामने ही, खड़ी है
.
धूम मची है, सगरे जग में
ढूंढ रहा जिसे, धुन ये वही है
.
युग बीते, जिसे ढूंढ न पाया
आज वही, तुझे, वरन खड़ी है
.
ता ना ना धूम
धूम ता ना ना धूम
ता ना ना धूम
.
धूम मची है, सगरे जग में
ढूंढ रहा जिसे, धुन ये वही है
.
देखो तो कैसी, सुबह जगी है
अधरों पे, मुस्कान खिली है
.
ढूंढ रहा जिसे, धुन ये वही है
.
ता ना ना धूम
धूम ता ना ना धूम
धूम ता ना ना धूम .
.
रवीन्द्र के कपूर
कानपूर भारत १२ ०६ 2014

नोट: मैंने तराना गायन के इस सुन्दर प्रभाव को हिन्दी और अंग्रेजी में अपने Poetry
Soup की website पर भी रख कर इस गायन को Western म्यूजिक के प्रेमियों को इस गायन के fusion से एक नए गीत के प्रसार हेतु भी प्रेरित किया है. मुझे आशा है कि Tarana गायन जल्द ही कुछ नए रूप में उभर कर आएगा. इस गायन पर मिली एक दो प्रतिक्रियाएं आप के लिए यहां प्रस्तुत हैं.
URL: http://www.poetrysoup.com/poems_poets/poem_detail.aspx?ID=575902

Leonora Galinta
Date: 6/22/2014 8:12:00 AM
This is absolutely a very beautiful song my dear friend Ravindra. Before viewing the video, i can already imagine the very lovely & inspiring image here. The nice melody seems ringing in my mind & i feel dancing as well while reading it. Can’t wait to see the video. Kudos & big congrats my dear friend. I love music & i love your new song so much. Thanks a lot for sharing! Big hugs! Wishing u the best always! Love lots, Leonora

Anne Lise Andresen
Date: 6/21/2014 5:39:00 AM
- Thank you, Ravindra – ( I watch this Video) – I wish you a nice weekend :) ) – oxox // Anne-Lise :)

Web Title : HindiTarana Song-Ta Na Na Dhoom(English Carol-Pleasure Singing)



Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

5 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

    Ravindra K Kapoor के द्वारा
    June 17, 2014

    आपके इन शब्दों के लिए में आपका आभारी हूँ योगीजी . सुभकामनाओं के साथ ..रवीन्द्र के कपूर

Acharya Vijay Gunjan के द्वारा
June 13, 2014

बेहतरीन प्रस्तुति ! बधाई !!

    Ravindra K Kapoor के द्वारा
    June 14, 2014

    गीत की भावनाओं की सराहना के लिए आभार. सुभकामनाओं के साथ … रवीन्द्र के कपूर

DR. SHIKHA KAUSHIK के द्वारा
June 13, 2014

ईश्वर मोदी जी के समर्थकों की सभी अभिलाषाएं पूरी करें .सुन्दर प्रस्तुति .आभार


topic of the week



latest from jagran